वैलेंटाइन डे क्यों मनाया जाता है

हेलो दोस्तो स्वागत है आपका हमारी वेबसाइट onlinehinditeach.com पर दोस्तो हमने आपको पिछली पोस्ट में बताया vivo v11 फ़ोन के बारे में और आज हम आपको इस पोस्ट के जरिये बताएंगे कि वैलेंटाइन डे क्यों मनाया जाता है ।

दोस्तो सबसे पहले तो सभी lovers को valentine डे की बहुत बहुत सुभकामनाये ।



दोस्तो ये तो आप लोग जानते ही होंगे कि दुनिया के सभी धर्म के लोग इस दिन एकजुट होकर इस दिन को celebrate करते है । दोस्तो यह एक ऐसा डे है जिसको सभी लोग आपस मे मिलकर मानते है । इस डे को हम प्यार का दिन भी कहते है । जो हर साल 14 फरबरी को मनाया जाता है ।

You also see

 

 

 

 

और ये जल्द ही दस्तक देने आ रहा है । खासकर इस डे का इंतज़ार lovers को ज्यादा रहता है । यानी कि इस दिन दो दिलो का मिलाप होता है । फ्रेंड्स अगर आप वैलेंटाइन डे के बारे में जानकारी लेना चाहते है तो आप बिलकुल सही आर्टिकल पढ़ रहे है । क्योंकि इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे valentine day के बारे में कुछ रोचक जानकारी

दोस्तो हमारे देश मे valentine Day से पहले भी February के महीने में कई सारे day आते है जो कि हर साल बड़े ही धूम धाम से मनाए जाते है । जो कि कुछ इस तरह से है ,



7 फरबरी रोज डे

8 फरबरी प्रोपोज़ डे

9 फरबरी चॉकलेट डे

10 फरबरी टेडी डे

11 फरबरी प्रॉमिस डे

12 फरबरी हुग डे

13 फरबरी किश डे

14 फरबरी वैलेंटाइन डे

तो चलिए दोस्तो अब चलते है कि valentine डे क्यों मनाया जाता है ।

Valentine day क्यों मनाया जाता है

दोस्तो ऐसा कहा और माना भी जाता है कि वैलेंटाइन डे का नाम रोम के एक पादरी संत वैलेंटाइन के नाम पर रखा गया था । दोस्तो बैसे तो इसके बारे में कई कथाएं प्रचलित है कि वैलेंटाइन डे क्यों मनाया जाता है । लेकिन जैसा हमको पता है हम आप लोगो को बैसा ही बताएंगे ।

दोस्तो कहा जाता है कि तीसरी सताब्दी में रोमन में एक सम्राट हुआ करता था जिसका नाम लोगो ने क्लॉडियस रखा था । दोस्तो तब यानी तीसरी सताब्दी में रोमन का सम्राट वो क्लॉडियस हुआ करता था । और वो बहुत ही क्रूर था वो लोगो पर बहुत ज्यादा सितम ढाता था । इसीलिए लोग उसके क्लॉडियस के नाम से जानते है ।

और दोस्तो उस समय यानी तीसरी सताब्दी में युद्ध इतने हो रहे थे कि वहां पर सैनिको की संख्या बहुत कम पड़ रही थी । वो बहुत ही मुश्किल का समय था । ऐसे में क्लॉडियस ने सोचा कि अगर ऐसा ही चलता रहा तो में तो सारे के सारे युद्ध हार जाऊंगा । क्योंकि कोई भी अपने परिवार को पीछे छोड़कर युद्ध मे नही आना चाहता था ऐसे में क्लॉडियस के मन मे सवाल आया कि , क्यों न मेरे राज्य में जितने भी विवाह हो रहे है और होने वाले है क्यू न उन सब को रद्द कर दिया जाए । ओर उसने ऐसा कर दिया ।


और जिन लोगो ने क्लॉडियस की बात को नही माना तो उसने उन लोगो को मौत के घाट उतार दिया उसमे करीब 1000 लोगो की जान ले ली । जिन लोगो की शादिया होने बाली थी । और जो कुछ lovers यानी प्रेमी जोड़े थे उनको अलग होना पड़ा और नही होते तो वो क्रूर सम्राट उन को भी मरवा देता । तो उनको मज़बूरी में क्लॉडियस की बात माननी पड़ी ।

ऐसे में उनकी मदद के लिए कोई भी दूसरे राज्य के सम्राट उनकी मदद के लिए आगे नही आये । ऐसे में अपनी जान की परवाह न करते हुए एक आदमी उन प्रेमी जोड़ों ओर जिनकी सादिया होने बाली उनकी मदद के लिए एक अकेला व्यक्ति सामने आया जिसका नाम था वैलेंटाइन

वैलेंटाइन एक साधारण पुजारी थे जो कि उनकी मदद करना चाहते थे । और उन्होंने की , युद्ध मे जाने से पहले उन्होंने सम्राट के आदेशों के खिलाफ एक प्रेमी जोड़े की चुपके से शादी करा दी ।

उसके बाद 269 A .D में राजा को किसी ने ये बात आकर बता दी उसके बाद उस राजा ने वैलेंटाइन जी को जेल में डालने और फासी की सजा सुनाई । अव क्या वैलेंटाइन अपनी मौत का इंतज़ार कर रहे थे । उसके बाद उसको जेल में ही एक अंधी लड़की से प्यार हो गया । जो कि उसी जेल के एक जेलर की बेटी थी ।


जो कि आंखों से देख नही सकती थी । दोस्तो अपनी मौत के एक दिन पहले शाम को वैलेंटाइन कुछ लिखना चाहता था । लेकिन जब बहा पर लिखने का कोई साधन मौजूद नही था । तो वो कुछ न लिख सका । और उसने मौत के पहले उस अंधी लड़की को एक बार देखा और उसके साथ रोमांस भी किया जो कि उसकी जिंदगी का आखरी पल था । फिर दोस्तो अगले दिन वैलेंटाइन को फाँसी दे दी गयी ।

वैलेंटाइन का बालिदान

सेंट वैलेंटाइन का ये योगदान उन प्रेमी जोड़ों के लिए था जो कि एक दूसरे से प्रेम करते थे । और क्लॉडियस उनकी शादी नही होने दे रहा था । दोस्तो कहा जाता है कि वैलेंटाइन तो मर गया लेकिन उसकी आत्मा बहा पर भटकती रही । आखिर कर वैलेंटाइन की आत्मा को शांन्ति प्रदान करने के लिए ऐसा फैसला किया गया कि हर साल 14 फरबरी को वैलेंटाइन डे के रूप में यह उत्सव मनाया जाएगा ।

ओर दोस्तो रियल बात तो यह है कि वैलेंटाइन डे शादी और प्यार की अबधारडा पर आधारित है । दोस्तो बैसे तो आपको और हमको सचे दिल से वैलेंटाइन डे मनाना चाहिए और वैलेंटाइन की कुर्बानी को याद करना चाहिए और आप जिससे भी सच्चा प्यार करते है उससे इस दिन बिना घबराये कह देना चाहिए ।




दोस्तो में आशा करता हु आपको मेरे द्वारा बताई हुई जानकारी पसंद आई होगी अगर फ्रेंड्स पसंद आई हो तो आप हमको कमेंट बॉक्स में बताए । और अगर आप लोगो ने इस पोस्ट को शेयर नही किया है यो इसको जल्द ही शेयर कर दे ।